Home विज्ञान और टैकनोलजी Cyber Crime का तांडव! भारतीय नागरिकों से हैकर्स ने 7000 करोड़ रुपये...

Cyber Crime का तांडव! भारतीय नागरिकों से हैकर्स ने 7000 करोड़ रुपये ठगे हैं; इसे जल्दी पूरा करें, नहीं तो हम कंगाल हो जाएंगे!

20
0

Digital भुगतान: हमारे लिए भुगतान करना बहुत आसान हो गया है जब से डिजिटल भुगतान की सुविधा मिल गई है। इसके बावजूद, इस विशेष सुविधा के साथ-साथ इस सिस्टम ने भी ऑनलाइन स्कैम्स में काफी वृद्धि की है। नेशनल साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल (NCRP) के डेटा के अनुसार, लगभग 7000 साइबर क्राइम शिकायतें हर दिन दर्ज की जाती हैं।

7061.51 करोड़ का नुकसान

I4C ने कहा कि लाओस, कम्बोडिया और म्यांमार से अधिकांश ऑनलाइन स्कैम्स आते हैं। 2024 का यह आंकड़ा आपको हैरान कर देगा। 2024 के पहले चार महीने में ही भारत को साइबर क्राइम से 7061.51 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।

I4C के CEO राजेश कुमार ने बुधवार को कहा कि इन अपराधों ने इस्तेमाल किए जाने वाले वेब एप्लीकेशन मैंडरिन (Mandarin) भाषा में लिखे गए है. इससे इन स्कैमर्स के चीन से होने की संभावना बढ़ जाती है. कमाल की बात तो यह है कि चीन भी इसी तरह के स्कैम्स का शिकार है.

पिछले कुछ वर्षों में साइबर क्राइम के मामले और दर्ज होने की संख्या भी काफी बढ़ी है। आंकड़ों पर एक बार नज़र डालें। 2024 के अप्रैल तक, पहले चार महीने में 7,40,000 शिकायतें दर्ज की गईं। 2023 में 15.6 लाख शिकायतें दर्ज की गईं। 2022 में 9,66,000 शिकायते हुईं, 2021 में 4,52,000 हुईं, 2020 में 9,57,000 हुईं और 2019 में केवल 26,049 हुईं।

भारत के लोगों को कई तरह के स्कैम में पैसे खो रहे हैं। I4C के सीईओ ने बताया कि पिछले कुछ महीनों में हुए 7061.51 करोड़ रुपये का 12 प्रतिशत, यानी लगभग 812 करोड़ रुपये, रिकवर किए गए हैं।

ऐसे स्कैम्स से कैसे बचें?

  • भारतीयों को फ़साने के लिए स्कैमर्स भारतीय सिमकार्ड का ही प्रयोग करते है ताकि किसी को शक न हो और वो जल्दी से किसी को भी फंसा सकें. इन बातो को ख्याल रखेंगे तो आप इन घोटालों से बच सकते है.
  • ज्यादातर लोगों को सोशल मीडिया पर टेक्स्ट के माध्यम से मैसेज आता है कि कम इन्वेस्टमेंट में जल्द ही बहुत ज्यादा पैसा कमाए. ऐसे मैसेजों से बचकर रहिए क्योंकि यह एक स्कैम हो सकता है.
  • कई बार आपको कोई इंसान कॉल करके खुद को किसी बड़ी कंपनी का HR बताता है और बहुत ज़्यादा सैलरी देने की बात करता है. ऐसे मैसेज से अलर्ट हो जाए ये भी स्कैम हो सकता है.
  • अपनी पर्सनल और फाइनेंसियल डिटेल्स किसी के साथ शेयर न करें. खासकर अनजान व्यक्तियों के साथ या चैटिंग ऐप्स पर अपने बैंकिंग डिटेल्स बिल्कुल भी शेयर ना करें. अगर ऐसा करते है तो आपके साथ स्कैम होने की संभावनाएं बढ़ जाती है.
  • अनजान नंबर से आए हुए लिंक या फाइल को कभी डाउनलोड न करें. इससे आपके फोन में वायरस (Virus) आ सकता है या फिर आपके फ़ोन को हैक (Hack) भी किया जा सकता है.

    शिकायत दर्ज कराने में देरी ना करें

    सबसे महत्वपूर्ण जानकारी यह है कि अगर कभी भी कोई साइबर धोखाधड़ी (Cyber Fraud) हो जाए या कोई करने की कोशिश कर रहा हो तो तुरंत इसकी जानकारी साइबर क्राइम पोर्टल (https://cybercrime.gov.in/) और मदद के लिए 1930 पर कॉल करे. इसके अलावा आप भारत सरकार द्वारा रिलीज़ की गई एक नई वेबसाइट या पोर्टल चक्षु पर भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं.