Home विज्ञान और टैकनोलजी CERT-In: सरकारी निकाय ने कहा कि आईफोन, आईपैड और मैक उपयोगकर्ता खतरे...

CERT-In: सरकारी निकाय ने कहा कि आईफोन, आईपैड और मैक उपयोगकर्ता खतरे में हैं

24
0

CERT-In, भारतीय कंप्यूटर इमरजेंसी रेस्पॉन्स टीम, ने एपल यूजर्स को एक महत्वपूर्ण चेतावनी दी है। CERT-In ने बताया कि एपल के कई उपकरणों में सिक्योरिटी में खराबी हुई है, जिसका फायदा हैकर्स उठा सकते हैं। इस लिस्ट में कई सॉफ्टवेयर, iPads, Macs और iPhones शामिल हैं।

CERT-In ने चेतावनी दी है कि हैकर्स इन कमियों का फायदा उठाकर यूजर्स की डिवाइस को पहुँचा सकते हैं। इसके अलावा व्यक्तिगत डेटा चोरी हो सकती है। अलर्ट में बताया गया है कि हैकर्स इन कमियों का फायदा उठाकर दूर बैठे आपकी डिवाइस को नियंत्रित कर सकते हैं।

CERT-In के मुताबिक ये बग एपल के ऑपरेटिंग सिस्टम iOS, iPadOS, macOS, Safari और tvOS में हैं। इन खामियों की मदद से ब्राउजिंग हिस्ट्री, पासवर्ड-आईडी और बैंकिंग जानकारी भी लीक हो सकती है। इसके अलावा डिवाइस की सिक्योरिटी को भी बायपास किया जा सकता है।

किन ऑपरेटिंग सिस्टम में है दिक्कत

  • iOS और iPadOS: 16.7.8 और 17.5 के पहले वाले वर्जन में
  • macOS: Monterey 12.7.5 के पहले वाले वर्जन, Ventura 13.5.7 के पहले वाले वर्जन, Sonoma 14.5 के पहले वाले वर्जन
  • Safari: 17.5 से पहले के वर्जन
  • Apple TV: 17.5 से पहले के वर्जन

बचने का तरीका क्या है

CERT-In ने कहा है कि यदि आप इन खामियों से बचना चाहते हैं और अपनी डिवाइस को सुरक्षित रखना चाहते हैं तो आपको अपनी डिवाइस को तुरंत अपडेट करना होगा। यदि कोई अपडेट आया है तो उसे नजरअंदाज ना करें। एपल को भी इन खामियों के बारे में जानकारी मिल गई है और कंपनी ने अपडेट जारी करने शुरू कर दिए हैं।