Home विज्ञान और टैकनोलजी WhatsApp ब्लॉक हो गया है, क्या करें?

WhatsApp ब्लॉक हो गया है, क्या करें?

23
0

महीने में, मेटा (Meta) के मालिकाना हक वाला WhatsApp लाखों अकाउंट बंद करता है। लेकिन “घुन के साथ गेहूं भी तो पिस जाता है”, हालांकि इसमें अधिकांश फर्जी और स्पैम अकाउंट शामिल हैं। तुम गेंहू हो, इसलिए कहावत जानकर उल्टी लिखी। मीटर बैठ गया, अब ब्लॉक को अनब्लॉक करें।

आपके दिन की शुरुआत शायद एक WhatsApp मैसेज से होगी। इसी से दिन का अंत भी हो सकता है। अब ये अलग बात है कि सुबह जौनपुर वाली बुआ ने पहला संदेश भेजा है या रात को मालिक ने आखिरी संदेश भेजा है। हालाँकि, आज की तारीख में वॉट्सऐप बातचीत के लिए सबसे उपयुक्त उपकरण है। यह बहुत महत्वपूर्ण प्लेटफॉर्म है, लेकिन कल्पना कीजिए कि आपका अकाउंट ब्लॉक हो जाएगा। आप शायद इसकी कल्पना भी नहीं करना चाहते क्योंकि जब सेवा थोड़ी देर के लिए बंद हो जाती है, तो शोर होता है।

आप कल्पना भले नहीं करें मगर ये हकीकत है कि ऐसा होता है और अमूमन होता है. मेटा के मालिकाना हक वाला प्लेटफॉर्म महीने के महीने लाखों अकाउंट बंद करता है. हालांकि इसमें ज्यादातर स्पैम और फर्जी अकाउंट होते हैं मगर ‘घुन के साथ गेहूं भी तो पिस जाता’ है. कहावत जानकर उल्टी लिखी क्योंकि आप तो गेंहू हो. चलिए मीटर बैठ गया अब ब्लॉक को अनब्लॉक करने का काम करते हैं.

वॉट्सऐप ब्लॉक क्यों होता है?

एक लाइन का जवाब है, हमारी गलती से. सिर्फ और सिर्फ हमारी गलती भले वो जानकर हुई हो या अनजाने में. वॉट्सऐप तो बना ही मैसेजिंग के लिए है तो उसको क्या पड़ी जो अपने नंबर कम करेगा. अकाउंट बंद होने के कुछ कारण जान लीजिए

# आधिकारिक ऐप के अलावा दूसरा ऐप इस्तेमाल करने पर. नाम बताने की जरूरत नहीं क्योंकि इनकी संख्या बहुत ज्यादा है.

# गैर कानूनी काम करने से या नग्न और एडिट की हुई तस्वीरें भेजने से

#  किसी दूसरे के नाम से अकाउंट बनाने और स्पैम लिंक शेयर करने से

# फर्जी मैसेज से लेकर गलत सूचना वाले संदेश और भर-भरकर मैसेज भेजने से

# लोगों की निजी जानकारी चुराने से

# अकाउंट को लंबे समय तक इस्तेमाल नहीं करने से

# स्पैम रिपोर्ट होने से मतलब जब कई लोग आपके अकाउंट को स्पैम या फर्जी रिपोर्ट करते हैं तब ऐप का एल्गोरिथ्म इसको पकड़ लेता है.

अब बैन और ब्लॉक भी दो तरीके का होता है

# पहला अस्थाई और दूसरा परमानेंट

ब्लॉक हो गया तो क्या करें?

# अगर अस्थाई बैन है तो ऐप पर लिखा दिखेगा. समय सीमा गुजरते ही लॉगिन कर लीजिए और दोबारा वही गलती मत दोहराइए.

# अगर परमानेंट ब्लॉक है तो ऐप में ऊपर ही कॉन्टेक्ट सपोर्ट का ऑप्शन नजर आएगा

# यहां Request a Review पर क्लिक कीजिए. ईमेल का ऑप्शन ओपन होगा.

# बताइए कि आपने क्या किया था या क्या नहीं. अगर स्क्रीन शॉट लगा सकें तो बेहतर

# प्रोसेस पूरी होने पर आपको एसएमएस से ओटीपी आएगा

# ईमेल को ध्यान से पढ़ लीजिए और फिर Send का बटन दबा दीजिए

# 24 घंटे में आमतौर जवाब आ जाता है.

अगर आपकी बात सही हुई तो अकाउंट खुल जाएगा वरना ठन-ठन-गोपाल. ऐप ही तय करेगा कि क्या करना है क्योंकि सारे नियम और शर्तें तो हम पहले ही ओके कर चुके होते हैं जब पहली दफा लॉगिन किया था.