Home उत्तराखंड Income Tax Raid: व्यापारी 24 घंटे से आयकर विभाग की कार्रवाई के...

Income Tax Raid: व्यापारी 24 घंटे से आयकर विभाग की कार्रवाई के खिलाफ हैं; भाजपा और कांग्रेस के नेताओं को भी शामिल किया गया

20
0

रुद्रपुर में लकड़ी कारोबारियों के प्रतिष्ठानों पर आयकर विभाग की कार्रवाई 24 घंटे बाद भी जारी है। आयकर विभाग की टीम कहीं नहीं है। इस दौरान व्यापारी आयकर विभाग की छापेमारी के खिलाफ सड़क पर उतरे हैं। व्यापारियों ने प्रतिरोध में एक बजे तक बाजार बंद करने का आह्वान किया है। कांग्रेस और भाजपा के नेता भी बंद का आह्वान कर रहे हैं, साथ ही प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल और देवभूमि व्यापार मंडल भी।

दो प्रतिष्ठानों सहित चार जगहों पर आयकर विभाग का छापा

रुद्रपुर शहर में आयकर विभाग ने पिता-पुत्र और तीन लकड़ी कारोबारियों के घरों, प्रतिष्ठान और कार्यालयों पर छापा मारा। तीन स्थानों पर आयकर विभाग की टीमों ने कारोबारी और उनके परिवार से घंटों पूछताछ की, लेकिन एक घर में वे नहीं मिले। टीम ने कारोबार संबंधी दस्तावेजों और बैंक खातों की सूची भी खंगाली।

आयकर विभाग की टीमों ने बृहस्पतिवार सुबह साढ़े दस बजे बारह कारों में लखनऊ से चार स्थानों पर छापा मारा। फर्नीचर कारोबारी गुलशन नारंग, उनके बेटे रोनिक नारंग और साझेदार सौरभ गावा के मॉडल कालोनी स्थित विनायक प्लाई कार्यालय में तीन टीमों ने छापा मारा। चौथी टीम सौरभ के घर एलाइंस कॉलोनी में पहुंची, लेकिन परिवार मेहंदीपुर बालाजी गया था। फर्नीचर मार्ट में गुलशन नारंग से तीन अधिकारियों ने कारोबार के बारे में पूछताछ की, साथ ही दुकान के स्टॉक, बैंक खातों और खरीद बिक्री के रिकॉर्ड की मांग की। दुकान के गल्ले में इस दौरान 580 रुपये मिले। टीम ने गुलशन से उनकी पत्नी और बेटे विकास के नामआयकर विभाग की टीमों ने बृहस्पतिवार सुबह साढ़े दस बजे बारह कारों में लखनऊ से चार स्थानों पर छापा मारा। फर्नीचर कारोबारी गुलशन नारंग, उनके बेटे रोनिक नारंग और साझेदार सौरभ गावा के मॉडल कालोनी स्थित विनायक प्लाई कार्यालय में तीन टीमों ने छापा मारा। चौथी टीम सौरभ के घर एलाइंस कॉलोनी में पहुंची, लेकिन परिवार मेहंदीपुर बालाजी गया था। फर्नीचर मार्ट में गुलशन नारंग से तीन अधिकारियों ने कारोबार के बारे में पूछताछ की, साथ ही दुकान के स्टॉक, बैंक खातों और खरीद बिक्री के रिकॉर्ड की मांग की। दुकान के गल्ले में इस दौरान 580 रुपये मिले। टीम ने गुलशन से उनकी पत्नी और बेटे विकास के नाम

सिविल लाइंस में रहने वाले लकड़ी कारोबारी रोनिक नारंग, उनकी पत्नी और मां से दूसरी टीम ने कई कमरों में पूछताछ की। उस समय उन्हें किसी से मिलने नहीं दिया गया था। तीसरी टीम ने विनायक प्लाई में रोनिक और सौरभ के कॉरपोरेट दफ्तर में लकड़ी की खरीद और बिक्री के ब्योरे के साथ दस्तावेजों को भी देखा। टीमों ने तीनों स्थानों से बहुत सारे दस्तावेज प्राप्त किए हैं। इसमें कारोबारियों और उनके परिवार के बैंक खातों के अलावा फर्मों के लेनदेन और बैंक खातों का भी विवरण शामिल है। आयकर विभाग के अधिकारियों ने इस बारे में कुछ भी बताने से इनकार कर दिया। खबर लिखे जाने तक पूछताछ आठ घंटे तक जारी रही।

प्रतिष्ठान के बाहर व्यापारी और राजनेताओं का जमघट

व्यापारी नेताओं, कांग्रेस और भाजपा के सदस्यों ने फर्नीचर कारोबारी के गल्ला मंडी स्थित प्रतिष्ठान पर आयकर विभाग के छापे की सूचना पर जमघट लगाया है। कार्रवाई के दौरान प्रतिष्ठान में व्यापार मंडल अध्यक्ष संजय जुनेजा उपस्थित रहे। व्यापारी रोनिक नारंग भी वहां पहुंचे थे, क्योंकि वे पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष थे। कांग्रेस जिलाध्यक्ष हिमांशु गावा, सौरभ चिलाना, संदीप चीमा, भाजपा नेता प्रीत ग्रोवर, मनोज मदान, सोनू अनेजा सहित कई लोग वहां उपस्थित थे।

मुख्य बाजार में मोबाइल की दुकान में पहुंची टीम

सिविल लाइंस में लकड़ी कारोबारी रोनिक नारंग से पूछताछ में आयकर विभाग को हाल में ही खराब हुए मोबाइल की जानकारी मिली। रोनिक ने मुख्य बाजार में एक मोबाइल की दुकान में कीपेड मोबाइल ठीक कराने दिया था। इसके बाद टीम रोनिक को लेकर मोबाइल की दुकान में पहुंची। टीम करीब एक घंटे दुकान में रही थी और खराब मोबाइल को भी जब्त कर लिया। सूचना पर व्यापारी नेता भी मौके पर पहुंच गए। इसके बाद टीम खराब मोबाइल और रोनिक को लेकर उनके आवास में चली गई।

बाहर से मंगवाया खाना और पानी
आयकर विभाग की टीम ने रुद्रपुर शहर में चार स्थानों पर पानी बाहर से मंगवाकर पीया भी। इस दौरान टीमों ने बाहर से खाना लाकर खाया। चारों जगहों पर भारी पुलिस बल तैनात रहे। Allison Colony की टीम ने फोटो नहीं खींचने दिया। टीम ने कहा कि कार्यवाहीस्थल पर जाकर फोटोग्राफी करें।

पुलिस की निगरानी में शौच को गए व्यापारी
गल्ला मंडी स्थित फर्नीचर मार्ट में कार्रवाई के दौरान कारोबारी गुलशन नारंग शौच के लिए दुकान से निकले। इस दौरान एक पुलिसकर्मी उनके साथ रहा। इस दौरान दुकान के बाहर मौजूद व्यापारियों से गुलशन ने कुछ देर बात की। समीप ही शौच के बाद वापस दुकान को आते समय उन्होंने वहां खड़े लोगों की तरफ हाथ भी हिलाया। इसके बाद वे दुकान के अंदर चली रही कार्रवाई में शामिल हो गए।

सुबह से हो गई शाम, डटे रही टीम

सुबह साढ़े दस बजे चारों स्थानों पर आयकर विभाग की चार टीमें पहुंच गईं। तीन स्थानों पर अधिकारी पूछताछ करने और दस्तावेजों की जांच करने में लगे रहे। रात हो गई, लेकिन अधिकारी वहीं रहे। जब एक व्यापारी नेता ने एक टीम को काम करने की जानकारी दी, तो उन्होंने एक साथ चारों जगहों पर काम करना शुरू कर दिया।

यूपी में भी आउटलेट्स पर छापे की सूचना

यूपी में रोनिक और सौरभ लकड़ी का अच्छा कारोबार करते हैं। आयकर विभाग की टीमों ने शाहजहांपुर, सीतापुर, हरदोई और बहेड़ी में भी छापे मारे हैं, सूत्रों ने बताया है। इन स्थानों पर फर्म का कारोबार होता है। आयकर विभाग ने इसकी पुष्टि नहीं की है।

आयकर विभाग को नहीं मिला विकास नारंग

गुलशन नारंग के बेटे विकास नारंग की ट्रांसपोर्ट कंपनी आयकर विभाग के केंद्र में है। बताया जा रहा है कि आयकर टीमों ने इस कंपनी के माध्यम से हुए कारोबार से जुड़ने के बाद कार्रवाई की योजना बनाई। लेकिन विकास नारंग अधिकारियों को नहीं मिल सका है और उसका नंबर भी कम हो रहा है। सूत्रों ने बताया कि अधिकारी विकास नारंग का इंतजार कर रहे हैं। विकास ने खबर लिखे जाने तक टीम से संपर्क नहीं कर सका।