Home उत्तराखंड Uttarakhand: टाटा समूह ऊधमसिंह नगर में इलेक्ट्रॉनिक सिटी बनाएगा, हजारों युवाओं को...

Uttarakhand: टाटा समूह ऊधमसिंह नगर में इलेक्ट्रॉनिक सिटी बनाएगा, हजारों युवाओं को रोजगार मिलेगा

17
0

टाटा समूह, देश का प्रसिद्ध औद्योगिक घराना, उत्तराखंड के ऊधमसिंह नगर जिले में एक इलेक्ट्रॉनिक सिटी बनाने जा रहा है। इस शहर को टाटा समूह ताइवान की कंपनियों के साथ बनाएगा। समूह को खुरपिया फार्म में 350 एकड़ जमीन दी गई है। इसके अलावा, इस परियोजना के शुरू होने के बाद लगभग 10 हजार से अधिक युवा लोगों को रोजगार मिल सकता है।

समूह के अधिकारी खुरपिया फार्म का निरीक्षण कर चुके हैं और अगले साल जनवरी 2025 में ताइवान की कंपनियों के प्रतिनिधि भी उत्तराखंड आएंगे। सचिव नियोजन आर मीनाक्षी सुंदरम ने इसकी पुष्टि की है। बता दें कि पिछले साल वैश्विक निवेशक सम्मेलन में टाटा समूह ने उत्तराखंड में इलेक्ट्रॉनिक सिटी बनाने का प्रस्ताव दिया था। इस दिशा में समूह ने काम करना भी शुरू कर दिया है।

टाटा समूह ने राहुल जैन को उत्तराखंड का नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। समूह का अनुमान है कि वर्ष 2025 के मध्य तक परियोजना का निर्माण शुरू हो जाएगा। देहरादून में, टाटा के इलेक्ट्रॉनिक प्रमुख रणवीर ठाकुर ने मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, अपर मुख्य सचिव आनंद बर्द्धन, सचिव वित्त दिलीप जावलकर और उद्योग विभाग के अधिकारियों के साथ एक दौर की वार्ता भी की है।
कौशल विकास केंद्र स्थापित करने पर भी सहमति
इलेक्ट्रॉनिक सिटी के साथ टाटा समूह राज्य में एक कौशल विकास केंद्र स्थापित करने पर भी राजी है। राज्य सरकार ने समूह से यह अनुरोध किया था। केंद्र में राज्य के युवाओं को इलेक्ट्रॉनिक सिटी और उद्योग जगत की मांग के अनुसार प्रशिक्षित किया जाएगा। इलेक्ट्रॉनिक्स से जुड़े क्षेत्र में अध्ययन कर रहे युवा यहां प्रशिक्षण ले सकते हैं। सिंगापुर सरकार के साथ भी राज्य में कौशल विकास कार्यक्रम शुरू करने पर मंथन किया जा रहा है।

10 हजार से अधिक को रोजगार के भी आसार

प्रदेश में जितनी भूमि पर टाटा समूह की इलेक्ट्रॉनिक सिटी बनाने की योजना है, उसमें 10 हजार से अधिक लोगों को सीधे रोजगार मिलने का अनुमान है। समूह कौशल विकास केंद्र बनाने पर भी सहमत है। इस केंद्र में प्रशिक्षित युवाओं के लिए इलेक्ट्रॉनिक सिटी में रोजगार के नए अवसर बनेंगे।

टाटा समूह ऊधमसिंह नगर में इलेक्ट्रॉनिक सिटी विकसित करने के लिए तैयार है। यह प्रक्रिया अब आखिरी चरण में हैं। अगल साल जनवरी में टाटा की सहयोगी ताइवान कंपनियों की टीम भी उत्तराखंड मुआयना करने आएगी। इलेक्ट्रॉनिक सिटी बनने से राज्य में रोजगार के नए अवसर खुलेंगे।

-आर मीनाक्षी सुंदरम, सचिव, मुख्यमंत्री एवं नियोजन