Home उत्तराखंड सूरज की रोशनी और गर्म हवा: देहरादून में 40 पार पहुंचा पारा,...

सूरज की रोशनी और गर्म हवा: देहरादून में 40 पार पहुंचा पारा, मैदान से पहाड़ तक भीषण गर्मी से झुलस रहे लोग

20
0

उत्तराखंड में बीते कुछ दिनों से मौसम अपने तेवर दिखा रहा है। तपते सूरज और गर्म हवाओं के थपेड़े मैदान से लेकर पहाड़ तक लोगों को झुलसा रहे हैं। राजधानी दून का अधिकतम तापमान तीसरे दिन भी लगातार 40 डिग्री के पार रहा। इसके चलते गर्म हवाओं ने दिन के साथ रात को भी परेशान किया।

इस बार मई में पारा अभी तक सात दिन तक ४० डिग्री के पार रहा है। इस दौरान रिकॉर्ड तोड़ तापमान चार बार दर्ज किया गया था। आंकड़े बताते हैं कि दून का सबसे अधिक तापमान 40.6 डिग्री था, जो सामान्य से पांच डिग्री अधिक था।

रात का न्यूनतम तापमान भी सामान्य से तीन डिग्री अधिक था। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि आज (बुधवार) से अगले दो दिन तक तापमान सामान्य से चार से पांच डिग्री बढेगा। गर्म हवाएं उसके चलते क्षेत्र से पहाड़ तक परेशान कर सकती हैं।

पर्वतीय जिलों में झोंकेदार हवाएं चलने की चेतावनी

आज (बुधवार) प्रदेश के पर्वतीय जिलों में तेज हवाएं चलने की संभावना है। मौसम विज्ञान केंद्र ने बताया कि दोपहर और शाम को रुद्रप्रयाग, चमोली, उत्तरकाशी, अल्मोड़ा, नैनीताल, चम्पावत, बागेश्वर और पिथौरागढ़ के कुछ इलाकों में 30 से 40 किलोमीटर की तेज हवाएं चलने की संभावना है। साथ ही इन जिलों में कुछ स्थानों पर हल्की बारिश होने की भी संभावना है।

यह रहा तापमान

स्थान                 अधिकतम             न्यूनतम

देहरादून                40.6                 24.4

पंतनगर                 40.8                  27.0

मुक्तेश्वर                  29.6                 15.5

नई टिहरी                  29.2             19.3

पहाड़ों पर भी चलने लगी गर्म हवा

सामान्य तापमान में चार से पांच डिग्री तक की बढ़ोतरी होने से पहाड़ों पर भी गर्म हवाएं चलने लगी हैं। मसूरी, अल्मोड़ा, चमोली, रुद्रप्रयाग समेत पर्वतीय जिलों के कुछ इलाकों में तापमान में हुई बढ़ोतरी से दिन के समय गर्म हवाएं परेशान करने लगी हैं।

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने कहा, सामान्य तापमान में 4.5 डिग्री की बढ़ोतरी होने के बाद गर्म हवाएं चलती हैं। इस बार मई में मैदान से लेकर पर्वतीय जिलों के कुछ हिस्सों में सामान्य तापमान में चार से पांच डिग्री तक का इजाफा हुआ है। जिसके चलते पहाड़ों पर गर्म हवाएं चलने लगी हैं।