Home उत्तराखंड Nainital: सैलानियों के लिए खुशी का रविवार था, लेकिन कहीं-कहीं शोर मच...

Nainital: सैलानियों के लिए खुशी का रविवार था, लेकिन कहीं-कहीं शोर मच गया।

24
0

रविवार पहाड़ों की वादियों में मनोरंजन की तलाश में आए सैलानियों के लिए व्यस्त रहा। सैलानियों की अटकी सांसों को सुकून मिला जब भीमताल झील में फंस गई नाव किसी तरह किनारे आ गई। सैलानियों को भीमताल और गरमपानी में जाम से जूझना पड़ा। गर्मी में रेंगते हुए वाहनों की वजह से पर्यटकों को अपने लक्ष्य तक पहुंचने में बहुत मुश्किल हुई। सरोवरनगरी में भारी भीड़ देखकर पुलिस ने दूसरे राज्यों से आए पर्यटकों के वाहन रोक दिए, जिससे सैलानी परेशान हो गए और अब क्या करें पता नहीं था। व्यापारियों का शुक्र है कि वे पुलिस से कहकर पर्यटकों को नैनीताल ले गए। नैनीताल से लौट रहे पर्यटकों का एक वाहन कालाढूंगी में दुर्घटनाग्रस्त हो गया।

टेंपो ट्रैवलर पलटने से 10 घायल, मची चीखपुकार
रविवार दोपहर को नैनीताल से घूमकर नई दिल्ली लौट रहे पर्यटकों से भरा टेंपो ट्रैवलर कालाढूंगी से पांच किमी पहले पलट गया। टेंपो ट्रैवलर में सवार लगभग दस लोग घायल हो गए। गाड़ी में चालक और परिचालक सहित उन्नीस लोग सवार थे। घायलों को पुलिस ने अस्पताल भेजा। जिनमें से कुछ गंभीर रूप से घायल थे, वे हल्द्वानी के उजाला सिग्नस अस्पताल में भर्ती हो गए।

भीमताल से कैंचीधाम तक घंटों लगा रहा जाम
पर्यटन सीजन में पर्यटकों को बेहतर यातायात व्यवस्था देने के पुलिस और जिला प्रशासन के दावे असफल रहे हैं। रविवार को भीमताल, रानीबाग, भवाली और कैंचीधाम में घंटों जाम लगने से सैलानियों और यात्रियों को कठिनाई हुई।

आधा घंटा झील में फंसी रही सैलानियों की नाव
भीमताल झील में जमी हुई सिल्ट की कमी से सैलानियों को खतरा है। सैलानियों की नाव रविवार को झील में बोटिंग करते समय आधे घंटे तक सिल्ट में फंसी रही। इससे सैलानियों में भय पैदा हुआ। बाद में नाव चालकों ने नावों को धक्का देकर किनारे लगाया। स्थानीय लोगों ने कहा कि सिंचाई विभाग को उन स्थानों पर नौकायन करना बंद करना चाहिए, जहां जलस्तर कम होने से सिल्ट दिखाई देता है। ताकि सैलानियों की जान को कोई खतरा न हो और भीमताल झील को लेकर सैलानियों पर कोई प्रश्न न खड़े हो सके।