Home उत्तराखंड Haldwani: जिस स्थान से कब्जा हटाया गया था, वहां अतिक्रमणकारी फिर से...

Haldwani: जिस स्थान से कब्जा हटाया गया था, वहां अतिक्रमणकारी फिर से काबिज हो गए, और प्रशासन की सभी कोशिशें असफल रही; देखो रिपोर्ट।

24
0

स्थानीय प्रशासन और नगर निगम की कई कोशिशों के बावजूद हल्द्वानी की सड़कें, फुटपाथ और बाजार अतिक्रमण से मुक्त नहीं हुए हैं। मुख्य चौराहों से बाजार और मेन रोड तक सभी अतिक्रमण के अधीन हैं। व्यापारी भी फुटपाथ पर सजाए हुए हैं। जनवरी में, स्थानीय प्रशासन और नगर निगम ने सिंधी चौराहे से आंबेडकर पार्क तक अतिक्रमण को हटाया था, वहां फिर से फल-सब्जी के ठेले लगाए गए।

नैनीताल रोड-

एमबीपीजी कॉलेज के सामने नैनीताल रोड पर सड़क के दोनों ओर फुटपाथ पर अतिक्रमण है। टैक्सी स्टेंड तक इसी तरह है। कहीं फड़ खोखे लगे हैं, तो कहीं फूल से लेकर जूस विक्रेता हैं। यह स्थान नगर निगम कार्यालय, एसडीएम कार्यालय और कोतवाली के सामने से रोडवेज तक सड़क के दोनों ओर है।

कालाढूंगी चौराहा-

सरस मार्केट के पास से चौराहे तक सड़क के एक ओर फुटपाथ पर फलों को लेकर पौधे बेचने वालों ने कब्जा किया है। चौराहे के सामने फुटपाथ पर कपड़े बेचने वाले हैं।

सिंधी चौराहा-

जनवरी में प्रशासन ने आंबेडकर पार्क से सिंधी चौराहे तक सड़क को चौड़ी करने के लिए अस्थायी अतिक्रमण हटाए थे। अब होली ग्राउंड और नगर निगम की पार्किंग के सामने चौराहे के दोनों तरफ अतिक्रमणकारी हैं।

हल्द्वानी बाजार क्षेत्र-

20 फुट की सड़क अतिक्रमण के कारण मटर गली, पटेल चौक, बर्तन बाजार, खानचंद्र बाजार, मीरा रोड, कारखाना बाजार, सदर बाजार से रस्सी गली तक पांच फुट भी नहीं बचती है। इन बाजारों में ठेले लेकर फेरी लगाने वाले शेष काम पूरा करते हैं। ऐसी स्थिति में बाजार आने वाले लोग बहुत मुश्किल से गुजरते हैं।

प्रशासन और नगर निगम बार-बार अतिक्रमण के खिलाफ अभियान चला रहे हैं। अतिक्रमण करने वाले भी चालान हो रहे हैं। जब फुटपाथ, सड़क या बाजार में अतिक्रमण होता है, तो नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।