Home विज्ञान और टैकनोलजी Google की तीन निजी सुविधाएं तुरंत लागू करें, ऑनलाइन डेटा चोरी का...

Google की तीन निजी सुविधाएं तुरंत लागू करें, ऑनलाइन डेटा चोरी का खतरा कम होगा

18
0

आजकल सभी लोगों को अपनी प्राइवेसी प्यारी होती है. इसके लिए लोग कुछ ना कुछ प्राइवेसी सेटिंग करने में लगे रहते हैं. लेकिन यहां हम आपको तीन ऐसी सेंटिग के बारे में बताएंगे जिन्हें करने के बाद आप चैन से जीवन निकाल सकेंगे. इसके बाद आपको डेटा चोरी होने का खतरा नहीं रहेगा. लेकिन ये आप करेंगे कैसे? ये जानने के लिए इसकी इन तीनों सेटिंग का प्रोसेस नीचे पढ़ें.

गूगल पर करें ये सेटिंग

सबसे पहले अपने स्मार्टफोन में गूगल क्रोम पर जाएं. इसके बाद यहां शो हो रहे सेटिंग के ऑप्शन पर क्लिक करें. ये करने के बाद प्राइवेसी सिक्योरिटी का ऑप्शन शो होगा. प्राइवेसी सिक्योरिटी के ऑप्शन पर क्लिक करें. अब यहां पर नीचे स्क्रॉल करें और सेफ ब्राउजिंग के ऑप्शन पर जांए. अब एन्हांस प्रोटेक्शन के ऑप्शन पर जाएं और उसे सलेक्ट करलें. इससे आप किसी भी ऐसी वेबसाइट पर जाने से बचेंगे जो डेटा के लिए खतरनाक हो. इस सेटिंग से आप ऐसी किसी वेबसाइट पर रिडायरेक्ट नहीं किए जाएंगे जो डेटा के लिए सेफ नहीं होगी.

यूज सिक्योर DNS

तीन सेटिंग में दूसरी सेटिंग के लिए भी आपको क्रोम पर जाना होगा. इसके बाद सेटिंग पर क्लिक करें. यहीं पर नीचे आपको USE SECURE DNS का ऑप्शन शो होगा, इस ऑप्शन पर जाएं. इसमें आप कस्टमाइज्ड के ऑप्शन पर क्लिक करें. कई सारे ऑप्शन शो होंगे उसमें से गूगल या क्लाउड कुछ भी सलेक्ट कर सकते हैं. गूगल और क्लाउड दोनों यूजर्स के लिए सेफ माने जाते हैं.

साइट सजेस्टेड Ads

ऊपर बताई गई दोनों सेटिंग के अलावा आप बेवजह बार-बार आने वाली एड्स पर भी रोक लगा सकते हैं. इसके लिए आपको सेटिंग के ऑप्शन एड्स प्राइवेसी के ऑप्शन पर जाना होगा. इसके बाद साइट सजेस्टेड एड्स को इनेबल करना होगा. इसके बाद आप जो भी गूगल पर सर्च करते हैं उससे रिलेटेड एड्स बार-बार शो नहीं होंगे.