Home उत्तराखंड Chardham Yatra 2024: एसीएस की अगुवाई में चारधाम यात्रा की निगरानी के...

Chardham Yatra 2024: एसीएस की अगुवाई में चारधाम यात्रा की निगरानी के लिए में बनेगी कमेटी, ये फैसले लिए गए

18
0

चारधाम यात्रा की सतत निगरानी के लिए अपर मुख्य सचिव आनंद बर्द्धन की अध्यक्षता में कमेटी बनेगी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अधिकारियों को शीघ्र कमेटी बनाने के निर्देश दिए। नई दिल्ली प्रवास पर गए मुख्यमंत्री ने उत्तराखंड सदन से वर्चुअल बैठक में अधिकारियों से चारधाम यात्रा का फीडबैक लिया।

CM ने अफसरों को बताया कि यात्रा प्रबंधन और संचालन में कोई लापरवाही नहीं होगी। लापरवाही किसी भी स्तर पर सामने आने पर सीधे कार्रवाई होगी। मुख्यमंत्री ने चारधाम यात्रा की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी विभाग आपसी समन्वय से अपनी जिम्मेदारियों का पूर्ण निष्ठा से निर्वहन करें।

किसी भी स्तर पर लापरवाही पाए जाने पर सीधे कार्रवाई की जाएगी, उन्होंने कहा। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि यात्रा मार्गों पर पुलिस के आईजी स्तर के अधिकारी और शासन के उच्च अधिकारी लगातार उपस्थित रहें। मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, प्रमुख सचिव आरके सुधांशु, सचिव शैलेश बगौली और दिलीप जावलकर भी बैठक में उपस्थित थे।

बिना रजिस्ट्रेशन धामों में पहुंचे तो अधिकारी होंगे जवाबदेह

उसने कहा कि अब संबंधित अफसरों की जवाबदेही होगी अगर श्रद्धालु बिना रजिस्ट्रेशन के धामों में जाते हैं। मंदिरों में दर्शन करने का समय सभी श्रद्धालुओं को समान था। इसके अलावा, दर्शन और रजिस्ट्रेशन व्यवस्था में वरिष्ठ नागरिकों को प्राथमिकता दी जाएगी। ऋषिकेश, हरिद्वार और अन्य ठहराव वाले स्थानों से केदारनाथ और बदरीनाथ जाने वाली गाडिय़ां अलग-अलग समय में छोड़ने के निर्देश दिए गए। यदि आवश्यक हो तो बीकेटीसी से समन्वय करके मंदिरों में दर्शन का समय भी बढ़ाया जाएगा।

मानसून सीजन को लेकर भी सभी तैयारी कर लें

मुख्यमंत्री ने कहा, चारधाम यात्रा में आगामी मानसून सीजन को लेकर भी सभी तैयारियां समय रहते पूर्ण की जाए। बारिश के वक्त यात्रा में होने वाली परेशानियों से निपटने के लिए पूरी तैयारी रखी जाए। श्रद्धालुओं के लिए तय किए गए ठहराव वाले स्थान पर नियमित सफाई पेयजल एवं अन्य मूलभूत सुविधाओं की पूर्ण व्यवस्था की जाए। जरूरत के अनुसार अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती भी की जाए। कहा, यात्रा को चलाना हम सभी की सामूहिक जिम्मेदारी है।