Home उत्तराखंड गंगा घाटों से उठाया जा रहा अब मलबा, निकल गई ठेकेदार की...

गंगा घाटों से उठाया जा रहा अब मलबा, निकल गई ठेकेदार की दबंगई

26
0

स्वर्गाश्रम-जौंक( रिपोर्टर) । पोल लगाने के बाद ठेकेदार द्वारा मलबा नगर पंचायत स्वर्गाश्रम-जौंक के गंगा घाटों पर छोड़े गए मलबे को उठाने का कार्य आरंभ कर दिया है। उक्त मामले में भाजपा महिला मोर्चा विनीता नौटियाल की फटकार के बाद ठेकेदार की दबंगईगिरी निकली जिसके बाद वह हरकत में आया।
दस दिन पूर्व जब मलबा हटाने को लेकर स्थानीय लोगों ने बार बार ठेकेदार से माँग की तो भई मलबा उठाने का काम नहीं किया। जिसकी भनक महिला मोर्चा अध्यक्ष विनीता नौटियाल ने तत्काल कॉल कर ठेकेदार की दबगईं की दबंगईगिरी निकाल दी। दो दिनों में मलबा घाटों से न उठने पर आंदोलन की चेतावनी दे डाली। ऊर्जा निगम द्वारा इन दिनों नगर पंचायत स्वर्गाश्रम-जौंक के घाटों पर बिजली के पोल लगाए जा रहे है जिसके लिए खुदाई कर स्लैब डालने का काम हो चुका है। लेकिन इस दौरान खुदाई के बाद निकाले गये मलबे को नहीं हटाया गया है । जिससे मलबे में लोग मलमूत्र त्याग रहे है साथ ही गंगा स्नान को आने वाले यात्री परेशान हो रहे है। बावजूद इसके इस ओर कोई कारवाई जिमेदार विभाग करने के मूड में नहीं दिख रहे है। मामले का संज्ञान भाजपा महिला मोर्चा स्वर्गाश्रम अध्यक्ष विनीता नौटियाल ने आप के लोकप्रिय समाचार पत्र खबर काम की में छपी खबर का संज्ञान लेकर ठेकेदार की दबंगगई कॉल करके निकाल दी। उन्होंने ठेकेदार को मलबे के न हटने से होने वाली दिक़्क़तें और गंगा के प्रदूषण होने से आस्था का खिलवाड़ होने की बात कही और दो दिनों में मलबा न हटने पर आंदोलन को चेताया। इसके बाद भई ठेकेदार इतना ढिढ़ ही की उसने अध्यक्ष को उल्टा बोल दिया आप मैडम मलबा हटवा दो। तो मैडम ने जमकर फटकार लगाई और बोला जब काम ढंग से नहीं कर सकते हो तो ठेका ही क्यों लिया। इसके बाद ठेकेदार ने मलबा उठाने की बात कहीं थी। फ़िलहाल अभी सभी घाटों से मलबा नहीं हटा है लेकिन काम ठेकेदार द्वारा किया जा रहा है।

ठेकेदार के कार्य में गुणवत्ता को लेकर लगाई जाएगी आरटीआई स्वर्गाश्रम-जौंक( रिपोर्टर)। पत्रकार शिव चन्द्र राय ने मामले में ठेकेदार की कार्यशैली और गुणवत्ता पर सवाल उठाते हुए जाँच की माँग उच्च अधिकारियों से की और इस संबंध में आरटीआई लगाकर निविदा से जुड़े सभी दस्तावेज लेकर उक्त के अनुसार काम न होने पर इस संबंध में करवाई की बात कहीं। जिसके बाद मलबा उठने की हरकत में ठेकेदार आया।