Home उत्तराखंड Uttarakhand: यूपी की रीति बदलेगी, अब नीति टूल किट से बनेगी…।सरकारी विभागों के...

Uttarakhand: यूपी की रीति बदलेगी, अब नीति टूल किट से बनेगी…।सरकारी विभागों के लिए पहली बार खाका

21
0

अब उत्तर प्रदेश सरकार अपनी टूल किट से नीतियां बनाएगी, जो राज्य की रीति और अनुभवों पर निर्भर करेगी। नियोजन विभाग का लोक नीति एवं सुशासन केंद्र (CPPGA) इसमें सहयोग करेगा। सीपीपीजीजी ने पहली बार नीति बनाने के लिए एक टूल किट का खाका बनाया है।

यह टूल किट वैज्ञानिक, व्यावहारिक और विषय केंद्रित नीति का दस्तावेज बनाने में मदद करेगा और नीति बनाने का बुनियादी आधार सुझाएगा। सचिव नियोजन डॉ. आर. मीनाक्षी सुंदरम ने सभी विभागों को साक्ष्य आधारित और डाटा केंद्रित नीति बनाने के लिए यह पॉलिसी मेकिंग टूल किट भेजा है। इसमें कदम-दर-कदम नीति बनाने और लागू करने के लिए मार्गदर्शन दिया गया है।

विभागीय नीतियां तैयार करने में मिलेगी मदद
सचिव का मानना है कि यह टूल किट निश्चित रूप से प्रगतिशील नीति बनाने में मदद करेगा। साथ ही, उन्होंने विभागों से अपेक्षा की है कि वे विभागीय नीति बनाने के दौरान इस टूल का उपयोग करेंगे। उन्हें लगता है कि इससे साक्ष्य-आधारित विभागीय नियम बनाने में मदद मिलेगी।

सीपीपीजीजी के अपर मुख्य कार्याधिकारी डॉ. मनोज कुमार पंत का कहते हैं, पहली बार नीति बनाने के लिए कोई मार्गदर्शिका उपलब्ध कराई गई है। हमें नहीं लगता कि किसी अन्य राज्य में ऐसा कोई प्रयोग हुआ है। इस टूल किट की मदद से विभागीय नीतियां बनाने में काफी मदद मिलेगी।

यह सही है कि सामाजिक, आर्थिक, भौगोलिक और पर्यावरणीय कारक नीति बनाते समय महत्वपूर्ण होते हैं, और उत्तराखंड जैसे राज्य में नीति बनाने के लिए एक समान दृष्टिकोण लागू नहीं किया जा सकता। लेकिन यह मार्गदर्शिका नीति बनाने का बुनियादी आधार प्रदान करती है, जो इसकी आवश्यकता, साक्ष्य, प्रभाव और हितधारकों पर केंद्रित है।