Home उत्तराखंड Pithoragarh: हैली सेवा के विरोध में सड़कों पर उतरी भीड़, दो लोगों...

Pithoragarh: हैली सेवा के विरोध में सड़कों पर उतरी भीड़, दो लोगों की गिरफ्तारी से आक्रोश बढ़ा; पूरा मामला जानें

29
0

लोगों में आक्रोश है कि हेलीकॉप्टर से पहले कैलाश और ओम पर्वत यात्रा करने वाले दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। गुस्साए लोगों ने कहा कि गिरफ्तारी गलत है क्योंकि आंदोलन शांतिपूर्ण था। पुलिस ने बताया कि हेलीकॉप्टर पर अभद्रता की शिकायत और पथराव की शिकायत पर कार्रवाई की गई है।

पिछले तीन दिनों से, व्यास जनजाति संघर्ष समिति, होम स्टे, टैक्सी यूनियन और व्यास घाटी के लोग हेली से पहले कैलाश और ओम पर्वत यात्रा करने के खिलाफ धरने पर बैठे हैं। लोगों का कहना है कि व्यास जनजाति संघर्ष समिति अध्यक्ष राजेंद्र सिंह नबियाल और ग्राम प्रधान नपलच्यू नरेंद्र सिंह को सोमवार को एसडीएम मंजीत सिंह और सीओ परवेज अली के गुंजी पहुंचने पर गिरफ्तार कर लिया गया।

तवाघाट चौराहे पर बहुत से लोग आक्रोशित होकर आए। यहीं उन्होंने पुलिस से चर्चा की। दोनों को पुलिस ने धारचूला ले लिया। कोतवाली के बाहर एक हुजूम जमा हुआ। दोनों को एसडीएम कोर्ट में मुचलका भरने के बाद छोड़ दिया गया। तब क्रोधित लोग शांत हो गए। प्रदर्शनकारी कहते हैं कि वे हेली सेवा के खिलाफ रहेंगे। यहाँ लोगों के गुस्से के बाद ट्रिप टू टैम्पल कंपनी के वाहन धारचूला वापस आ गए हैं।

पंचायत प्रतिनिधियों ने किया विरोध
सीमांत के पंचायत प्रतिनिधियों ने चीन सीमा से लगे गुंजी गांव में हेली सेवा का विरोध कर रहे आंदोलनकारियों को पुलिस के गिरफ्तार करने पर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि अगर सरकार के इशारों पर आंदोलनकारियों का उत्पीड़न किया गया तो सीमांत के सभी पंचायत प्रतिनिधि सरकार के खिलाफ आंदोलन करेंगे।

हेली से आदि कैलाश और ओम पर्वत यात्रा करा रही कंपनी की ओर से तहरीर दी गई थी कि हेली पर पथराव किया गया और कर्मचारियों के साथ अभद्रता की गई। इसलिए धारा-151 में कार्रवाई की गई। – परवेज अली, सीओ, पिथौरागढ़।