Home विज्ञान और टैकनोलजी धोखाधड़ी के खिलाफ दूरसंचार विभाग का निर्णय: सरकार-नियामकों के लिए नवीनतम नंबर,...

धोखाधड़ी के खिलाफ दूरसंचार विभाग का निर्णय: सरकार-नियामकों के लिए नवीनतम नंबर, समझें पूरा मामला

27
0

दूरसंचार विभाग ने धोखाधड़ी और फर्जी कॉलिंग को रोका है। विभाग ने वित्तीय संस्थाओं, सरकारों और नियामकों से सेवा और लेनदेन संबंधी कॉल के लिए 160 से शुरू होने वाली 10 अंकों की एक अलग श्रृंखला निर्धारित की है। मंगलवार को विभाग ने पत्र जारी कर इसकी सूचना दी। ज्ञापन के अनुसार, इस नंबर श्रृंखला को ग्राहकों को कॉल करने वाली इकाइयों, दूरसंचार ऑपरेटर और कॉल की जगह बताने के लिए बनाया गया था।

लोगों को धोखाधड़ी से बचाने के लिए शुरू की यह सुविधा
ज्ञापन के अनुसार, टीसीसीसीपीआर-2018 के तहत सेवा और लेनदेन संबंधी फोन कॉल के लिए एक अलग श्रृंखला 160 आवंटित की गई है। इस निर्णय का उद्देश्य धोखाधड़ी से ग्राहकों को बचाना है। दरअसल, सरकारी निकायों और विनियमित संस्थाओं के नाम पर और सरकारी अधिकारी बनकर कई बार फोन किया गया, जिससे धोखाधड़ी हुई। अब आप इस नंबर को प्रयोग करके सच्चे और नकली कॉल में फर्क कर सकते हैं।

जानें, किन नंबरों से कैसे कॉल आएंगे 
सरकार और नियामक निकायों को नई संख्या श्रृंखला 1600ABCXXX प्रारूप में दी जाएगी। इसमें “एबी” के स्थान पर दूरसंचार सर्किल का कोड दिखाया जाएगा; उदाहरण के लिए, दिल्ली में 11 कोड होगा और मुंबई में 22 कोड होगा। वहीं, “सी” अंक दूरसंचार सेवा प्रदाता का कोड प्रदर्शित करेगा। वहीं, XXX के स्थान पर 000-999 के बीच की संख्या होगी। इसी तरह, पीएफआरडीए और आईआरडीए के तहत काम करने वाली संस्थाओं के लिए 10 अंकों का नंबर 1601ABCXXX होगा।

पूर्ण सत्यापन के बाद ही आवंटित किया जाएगा नंबर
दूरसंचार सेवा प्रदाता नया नंबर आवंटित करने से पहले हर एक इकाई का पूरा सत्यापन करेगा। साथ ही प्रदाता, इच्छुक इकाई से एक शपथ-पत्र लेगा कि वे इस खास नंबर का इस्तेमाल सिर्फ सेवा और लेनदेन की कॉल के लिए ही करेंगे।